love(1)

कविता : दिल मन का हाल

मेरा मन बहुत चंचल है पर दिल मेरा स्थिर है। फिर भी सपनो में वो न जाने क्यों आते है। और अपने साथ होने का मुझे एहसास कराती है। जिसे कारण ही मेरी आत्मा व्याकुल उठती है।। मोहब्बत करने की… Read More

manovta

कविता : यथार्थ की दुनिया में

कई लोग ऐसे हैं बढ़-बढ़कर दूसरों से बोलते हैं, लेकिन बहुत कम लोग अपने आप से बोलते हैं अपने में दूसरों को देखना दूसरों में अपने को देखना सबसे बड़ी साधना है मनुष्य का, यथार्थ में, दुनिया में हम देखते… Read More

26jan(1)

गीत : प्यारा हिंदुस्तान

है प्यार बहुत देश हमारा हिन्दुतान। है संस्कृति इसकी सबसे निराली है। कितनी जाती धर्म के, लोग रहते यहाँ पर। सब को स्वत्रंता पूरी है, संविधान के अनुसार।। कितना प्यार देश है हमारा हिंदुस्तान। इसकी रक्षा करनी है आगे तुम… Read More

tiranga

गीत : तिरंगा प्यारा

सुनो मेरे देशवासियों, मनाने जा रहे, 74व गणतंत्र दिवस, कुछ संकल्प ले लो। नहीं करेंगे कोई भेदभाव, हम जाती और धर्म पर। समान भाव सबके प्रति, हम सब मिलकर रखेंगे। तभी हमारा ये देश, दिखेगा विश्व में विशेष।। हमें इस… Read More

11aug

कहानी : पटना के सात शहीदों की कहानी,जो रोंगटे खड़ी कर देगी।

द्वितीय विश्वयुद्ध में हमारे समर्थन के बदले अंग्रेजों ने आज़ादी देने का वादा किया था । लेकिन ऐसा हुआ नहीं । गोरों ने वादाखिलाफ़ी की । हम छले गए । हमें आज़ादी नहीं, धोखा मिला । आक्रोश ने आंदोलन का… Read More

fastival

गीत : हमारा भारत देश

हमारा प्यारा है बहुत देश जिसमें रहते साधर्म के लोग ये हमारा भारत देश है..। जिसमें बसते सबके प्राण इसलिए तो करते सब प्यार ये हमारा भारत देश ..।। अनेकता में एकता इसमें नजर आती है सदा। क्योंकि मिलकर मानते… Read More

pakistan

व्यंग्य : इंग्लिश पप्पू

पाकिस्तान के भूतपूर्व गृहमंत्री शेख रशीद दक्षिण एशिया की राजनीति में मनोरंजन के प्रमुख साधन माने जाते रहे थे , ये हजरात वही हैं जो इंडिया पर पाव किलो वजन के परमाणु बम मारने की धमकी दिया करते थे। जब… Read More

watan(1)

ग़ज़ल : वतन का खाकर जवाँ हुए

वतन का खाकर जवाँ हुए हैं वतन की खातिर कटेगी गर्दन। है कर्ज हम पर वतन का जितना अदा करेंगे लुटा के जाँ तन।। हर एक क़तरा निचोड़ डालो  बदल दो रंगत वतन की यारो। जहाँ  गिरेगा   लहू   हमारा   वहीं … Read More

birth

लेख : राष्ट्रनायक सुभाषचंद्र बोस

ये तो अन्याय ही होगा न ! जब माता शबरी से कोई कहे कि तेरे राम नहीं आयेंगे |……. उम्मीद छोड़ दो | माता शबरी मैं भारत माई को कह रहा हूँ | और जानते हैं,उनके राम कौन है? जिनके… Read More

johzr

कविता : जौहर-ज्वाला पद्मिनी

धधक उठी ज्वाला जौहर की राजस्थान कहानी थी । रतन सिंह मन-प्रेम पद्मिनी ,वो मेवाड़ की रानी थी। गन्धर्वराज घर की किलकारी,चम्पावती की मन ज्योति। सिंहलद्वीप की राजरागिनी , स्त्री की थी उच्चतम कोटि। सुंदरता तन में भी अनुपम ,मन… Read More