beautiful smiley face

कविता : प्यारे लगते हो

हँसता हुआ चेहरा, प्यारा लगता है। तेरा मुझे देखना, अच्छा लगता है। घायल कर देती है तेरी आँखे और मुस्कान। जिसके कारण पूरा दिन, सुहाना लगता है।। जिस दिन दिखे न तेरी एक झलक। तो मन उदास सा, हो जाता… Read More

कविता : ‘संजय जैन’ की कविताएं भाग 1

क्या था बचपन याद आ रहे है हमें, वो बचपन के दिन। जिसमे न कोई चिंता, और न ही कोई गम। जब जैसा जहां मिला, खा पीर हो गए मस्त। न कोई जाति का झंझट, न कोई ऊंच नीच का… Read More

बच्चों को सही शिक्षा दें

आज बाल दिवस के अवसर पर सबसे पहले सभी बच्चों को बहुत बहुत बधाई और शुभकामनाएं। माँ बाप का परम कर्तव्य बनता है की वो अपने बच्चों को सही तालीम के साथ संस्कार और ज्ञान दे, ताकि आने वाले समय… Read More

कविता : पाकिस्तान का जन्म

हुआ था जन्म जब तेरा, तबाही बहुत मची थी। इंसानियत की सारी हद, पार लोगो ने कर दी थी। भाई भाई से अपास में बिना वजह लड़े। पिता यहां और मां वहां, ऐसा कुछ इतिहास रचा। तभी तो आज तक,… Read More

कविता : तेरे संग जीना मरना

जीना मरना तेरे संग है। तो क्यो और के बारे में सोचना। मिला है तुम से इतना प्यार, तो क्यो गम को गले लगाना। और हंसती खिल खिलाती, जिंदगी को क्यो रुलाना। अरे बहुत मिले होंगे तुम्हे प्यार करने वाले।… Read More

कविता : कल को आज में जीओ

जो लोग कल में, आज को ढूंढते है। और खुद कल में जीते है, वो बड़े बदनसीब होते है। क्योंकि कल जिंदगी में, कभी आता ही नही। इसलिए में कहता हूं, की आज में जीकर देखो। जिंदगी होती है क्या,… Read More

कविता : लुटा तो मैं हूँ

कभी अपनो ने लूटा  कभी गैरो ने लूटा। पर में लुटता ही रहा। इस सभ्य समाज में।। किससे लगाएँ हम गुहार, जो मेरा दर्द समझ सके। मेरे ज़ख़्मों पर, मलहम लगा सके। और अपनी इंसानियत, को दिखा सके। और मुझे… Read More