kinkri devi

न तो वह शिक्षित
नहीं क़ानून का ज्ञान
बेहद आम सी औरत
हिमाचल में था आशियाना उनका
किंकरी देवी था जिनका नाम……

पहाड़ों से बेहद लगाव
खनन माफिया से बचाने पहाड
अकेली ही विरुद्ध खड़ी हो गई उनके….

डराया गया, धमकी भी मिली
फिर भी अजब निडर थी
जान की परवाह किये बिना
डटी रही अपने लक्ष्य पर….

हिम्मत न हारी, विरोध हुए बहुत
कर खुद पर विश्वास, न्याय खातिर
भूख हड़ताल भी की उन्नीस दिन..

आखिर वह समय आया
सपना हुआ पूरा, अधिकार मिला
खनन माफिया का मिटा कारोबार….

जाते जाते लोगों को
पर्यावरण का महत्व सिखा दिया
नई पीढ़ी को दिए कई ऐसे उपहार ..
ऐसी नारी शक्ति को नमन
शत् शत् नमन।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *