tera mera sath

किसी के दिल को प्यार से,
जितोगे तो प्यार पाओगें।
दिल की गहराइयों में,
तुम खो जाओगे।
और अपने को
प्रेमसागर में डूबा पाओगे।
और जिंदगी में तुम,
प्यार ही प्यार पाओगे।।

प्यार क्या होता है,
जरा तुम तो बताओ।
दिल की धड़कनों में,
इसकी आवाज़ तो सुनाओ।
प्यार रक्त के समान होता है,
जो नसों में सदा बहता है।
जो इंसान को जिंदा रखता है,
और प्यार में जीता मरता है।।

बहुत बदनसीब होते हैं,
वे लोग इस जमाने में।
जिनको जिंदगी में,
प्यार नहीं मिलता।
और इस हरियाली का,
आनंद भी नहीं मिलता।
ऐसे लोग जिंदगी में,
एकाकी और तन्हा होते है।।

खोलता हूँ घर की खिड़कियों को,
मुझे तुम ही तुम नजर आते हो।
देखकर तुमको दिल में मेरे,
अनेक तरंगे दौड़ जाती है।
जो दिल की बेचेनियों को,
दिन-रात बहुत बढ़ाती है।
और तुम्हें बाहों में लेकर,
सीने से लगाने को कहती है।।

तेरा दिल वहाँ धड़कता होगा,
मेरा यहाँ दिल धड़क रहा है।
तड़प में करवटे बदलते होंगे,
मैं यहां पर बदल रहा हूँ।
तुमको देखे बिना अब,
नींद कहाँ आती मुझको।
शायद तुम्हारा भी यही,
हाल हो रहा होगा।।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *